Horror Stories For Kids in Hindi | जादुई दरवाजा

Horror Stories For Kids in Hindi | जादुई दरवाजा

तीन दोस्तों की मंजिल की तलाश

Horror Stories For Kids in Hindi : गांव से शुरू होकर पैदल चलते हुए, तीन दोस्त नए राह की खोज में निकल पड़े। धूप में थक जाने के कारण उनकी हालत खराब होने लगी थी। सूरज की तेज किरणों को देखकर राम ने कहा, “यार, धूप बहुत तेज है और हमें बहुत दूर तक चलना है।” गोविंद ने भी उसे सहमति दिखाई और कहा, “हाँ, तू ठीक कह रहा है। मेरी हालत भी खराब हो रही है और मैं आगे बढ़ने के लिए तैयार नहीं हूँ। हमें जल्दी से आराम करने की जगह ढूंढ़ लेनी चाहिए।”

अग्रसरीभूत

तीनों दोस्तों ने अग्रसरीभूत होकर अचानक एक बड़े पेड़ को देखा। वे पेड़ तक पहुंचते ही वहां आराम करने लगे। वहां की शांति और ठंडक को देखकर वे सब खुश हो गए और थोड़ी देर के लिए वहीं ठहर गए। उन्होंने एक बार अच्छी तरह से आराम किया और बाद में अपनी यात्रा को जारी रखने का निर्णय लिया।

Real Horror Story in Hindi Pdf

रात आ गई और सब सोने चले गए। सुबह होने वाली थी कि राम उठकर अपने दोस्तों को जगाने चला गया। श्याम अपनी नींद को टालते हुए कहा, “थोड़ी देर और सोने दो, यार। Horror Stories For Kids in Hindi इतना आराम आ रहा है।” राम ने जवाब दिया, “नहीं, हमें उठना होगा और अपनी यात्रा में जाना होगा। उठो, श्याम, हमें जल्दी चलना है, और गोविंद को भी जगाओ।”

तीनों दोस्त उठकर अपनी यात्रा में जारी रखने के लिए चलने लगे। रात बहुत हो चुकी थी। श्याम को एक गुफा नजर आई और वह उसे अपने दोस्तों को दिखाते हैं। राम ने जवाब में कहा, “हमें गुफा में क्या करना है? हमें जल्दी अपने लक्ष्य में चलना चाहिए क्योंकि हमें जल्दी वहां पहुंचना है।” गोविंद ने इस जंगल में रहने के लिए स्थान की तलाश करने का सुझाव दिया। लेकिन राम ने कहा, “नहीं यार, हमारा यहां रुकना उचित नहीं है। अंदर जाने के बजाय हमें आगे बढ़ना चाहिए।” Horror Stories For Kids in Hindi

Short Horror stories in hindi

तीनों दोस्त अपनी यात्रा में आगे बढ़तेते हैं। तभी उन्हें एक जादुई दरवाजा दिखाई देता है और उनके पास जाते ही दरवाजे की ताले की चाबी मिलती है। Horror Stories For Kids in Hindi दरवाजे को देखकर श्याम कहता है, “देखो, इन दरवाजों के पीछे ही खजाना छिपा हुआ है।” राम द्वारा दरवाजे पर लिखे गए शब्दों को पढ़कर उन्होंने कहा, “यह मैथली भाषा में लिखा हुआ है।” गोविंद और श्याम को वह भाषा समझ नहीं आती, लेकिन राम को उसका अर्थ समझ में आता है। उन्होंने अपने दोस्तों से कहा, “आओ, जल्दी से पढ़ो और बताओ क्या लिखा है।”

और भी बेहतरीन कहानी पढ़ें: Science in Space Reading Answers | A Journey Through Time and Space In Hindi

वे दरवाजे के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए उसे पढ़ते हैं। एक दरवाजा कहता है, “मेरे पास आओ, मेरे पास ढेर सारे खजाने हैं।” दूसरा दरवाजा कहता है, “मेरे पास आओ, यहां खजाना है।” इस पर राम ने अपने दोस्तों को चेतावनी दी, “यहां से चुपचाप चलो, यहां खतरा नजर आ रहा है।” लेकिन गोविंद उसकी बात को नहीं मानता है और उस दरवाजे के अंदर चला जाता है। राम को बाहर रहना पड़ता है, जबकि श्याम भी अंदर ही रहता है। राम आवाज सुनता है और वे जल्दी से दरवाजे के पास जाते हैं, लेकिन वे दोस्त गायब हो चुके होते हैं। दरवाजे खुद बंद हो चुके होते हैं।

राम रोते हुए कहता है, “मैंने तुम्हें समझाया था, पर तुम मेरी बात नहीं माने। इसीलिए तुम उस नर्क में फंस गए हो।”इस लेख को हिन्दी में पुनर्वचन कर सकते हैं।

Thanks For Reading

vinodswain.1993@gmail.com

One thought on “Horror Stories For Kids in Hindi | जादुई दरवाजा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Moral Stories in Hindi For Class 9 The Story of Tenali Raman in Hindi A Thirsty Crow Story moral | प्यासी कौवे की कहानी Greed is Bad Short Story in English Short Story in English